ओ से ओखली : उर्ख्याली (ओखली)

“पा…….पा! पा…पा !” जूली रोते-रोते चिल्लाई | पास में पापा फ़ोन पर बात कर रहे थे | संदीप की नजर जोर से रो रही अपनी बेटी पर पड़ी जिसने अपनी रोने की आवाज से पूरा …

Read moreओ से ओखली : उर्ख्याली (ओखली)

Pahadi Women

नीमा की भिटौली : पहाड़ की लोककथा

चेत का महीना आधा बीत गया | बसंत की खुशबू पूरी तरह से घर की क्यारियों से लेकर  गाँव के खेतो से होकर जंगल के फूलों तक फ़ैल चुकी थी | बांज पर ताजे हरे …

Read moreनीमा की भिटौली : पहाड़ की लोककथा

उदास शाम की मायूसी

उदास शाम की मायूसी : एक झूठी प्रेम कहानी

एक उम्र या एक समय हर किसी के जीवन में ऐसा जरूर आता है ,  जब शामें उदास रहने लगती हैं , बिना सोचे भूख नहीं लगती है , हंसी तो आती है लेकिन हँसना-मुस्कुराना …

Read moreउदास शाम की मायूसी : एक झूठी प्रेम कहानी

हिंदी कहानी : योगी इन द हॉस्पिटल

हिंदी कहानी : योगी इन द हॉस्पिटल {भाग -2 }

नमस्कार दोस्तों , हिंदी कहानी की इस कड़ी में आपका स्वागत है , यह हिंदी कहानी योगी इन द हॉस्पिटल का दूसरा भाग है | यदि आपने पहला भाग नहीं पढ़ा तो एक वह जरुर …

Read moreहिंदी कहानी : योगी इन द हॉस्पिटल {भाग -2 }

hindi kahani

हिंदी कहानी : योगी इन दा हॉस्पिटल (Part-1)

हॉस्पिटल या फिर अस्पताल इंसानी दुनिया में मौजूद एसी जगहों में से एक है , जो अच्छी होने के बावजूद ,आम इंसान कभी यहाँ जाना नहीं चाहता | लोगों की जरूरत ,हास्पिटल जाने के लिए …

Read moreहिंदी कहानी : योगी इन दा हॉस्पिटल (Part-1)